कृष्ण भगवान के लिरिक्स भजन

कृष्ण भगवान के लिरिक्स भजन

गवळण मथूरेला निघाली लिरिक्स – Gavlan Mathure La Nighali Lyrics

गवळण मथूरेला निघाली लिरिक्स
गवळण मथूरेला निघाली
कशी भूल पडली मला
गवळण मथूरेला निघाली

नेसले पितांबर शालू गं बाई
कृष्णा माझ्यासंगे आता नको बोलू
खेळ होईल तूझा रे, वेळ जाईल माझा
मग राग हवा कशाला
गवळण मथूरेला निघाली

पेंद्या सूदामाची जोडी बरोबरी हो
फोडीती आमूच्या उतरंडी
सासू बोलेल मला रे, शिव्या देईल तूला
मग राग हवा कशाला
गवळण मथूरेला निघाली

अनयातीही मी गवळण राधा, गवळण राधा
विसरून गेले घरकाम धंदा
निळा म्हणे रे श्री हरी, नको वाजवू बासरी
तूझ्या मूरलीने जीव वेडावला
गवळण मथूरेला निघाली

कशी जाऊ मी वृंदावना मूरली वाजवितो कान्हा लिरिक्स – Kashi Jau Mi Vrundavana Murali Wajvito Kanha Lyrics

कशी जाऊ मी वृंदावना मूरली वाजवितो कान्हा लिरिक्स

कशी जाऊ मी वृंदावना
मूरली वाजवितो कान्हा

पैलतिरी हरी, वाजवी मूरली
नदी भरली भरली जमूना
कासे पितांबर कस्तूरी टिळक
कूंडल शोभे काना
कशी जाऊ मी वृंदावना

काय करू बाई, कूणाला सांगू
हरीनामाची सांगड आणा
नंदाच्या हरीने कौतूक केले
जाणे अंतरीच्या खूणा….
कशी जाऊ मी वृंदावना

एका जनार्दनी मनी म्हणा
देव महात्मे ना कळे कोणा
कशी जाऊ मी वृंदावना
मूरली वाजवितो कान्हा

जहां जहां राधे वहां जाएंगे मुरारी लिरिक्स – Jaha Jaha Radhe Waha Jayenge Murari Lyrics

जहां जहां राधे वहां जाएंगे मुरारी लिरिक्स
गोकुल कि गलीयो मे देखो धूम मची है आज
ग्वाल बाल और गोप गोपियाँ झूमे सकल समाज
धरा गगन मे हर्ष है छाया बजे मुरलिया साज
मोर मुकुट पीताम्बर धारी आ पहुचे ब्रजराज
बोलो जय कन्हैया लाल कि

जहां जहां राधे वहां जाएंगे मुरारी
जहां जहां राधे वहा जाएगे मुरारी
अबीर गुलाल बरसाएंगे मुरारी
रंग भरी पिचकारी मारेंगे मुरारी
राधे कि…..

राधे रानी रूप है तो रंग है मुरारी
राधा परिधान है तो अंग है मुरारी
फूल मे सुगध जैसे बसती है वैसे
हर घड़ी राधाजी के संग संग है मुरारी
जहां जहां ….

काहे करे कान्हा ऐसे मोसे छेड़खानी
काहे रंग डारी ये चुनर मोरी धानी
रोके तू डगर काहे मारे पिचकारी
केसे समझाऊ तोहे हारी मै तो हारी
जहां जहां…..

प्रेम मे रंगे है दोनों राधा और मुरारी
एक दुजे संग खेले होली मनहारी
वृन्दावन धाम संग रंगों मे है डूबे
धरती गगन और गलिया ये सारी
जहां जहां……

अबीर गुलाल बरसाएंगे मुरारी
रंग भरी पिचकारी मारेंगे मुरारी
राधे कि…..
राधे कि चुनर रंग डारेगे मुरारी
जहां जहां राधे वहां जाएंगे मुरारी

राधा राधा राधा राधा
कृष्णा कृष्णा कृष्णा

ब्रज में खेल रहे है होली लिरिक्स – Braj Me Khel Rahe Holi Lyrics

Song – Braj Me Khel Rahe Hai Holi
Singer – Ritika Pandey
Lyrics – Rama Bihari
Music – Avinash , Sintu Kumar

ब्रज में खेल रहे है होली लिरिक्स
ब्रज में खेल रहे है होली
वृन्दावन की कुंज गलि में
निकली रंगों की टोली
ब्रज में खेल रहे है होली

नन्द के संग यशोदा प्यारी
यशोदा के संग सब नर नारी

कोई रंग गुलाल उडाये
कोई मरे भर पिचकारी

धरती अम्बर झूम उठे है
देख रंगों की है होली
ब्रज में खेल रहे है होली
ब्रज में खेल रहे है होली

कान्हा के संग राधा प्यारी
राधा के संग सखिया सारी

राधा के संग मदन मुरारी
सबको रंग लगाये गिरधारी

रंगों की बारिश में आज
भीगे राधा गोरी
ब्रज में खेल रहे है होली
ब्रज में खेल रहे है होली

ब्रज में खेल रहे है होली
वृन्दावन की कुंज गलि में
निकली रंगों की टोली
ब्रज में खेल रहे है होली
ब्रज में खेल रहे है होली

दर्द किसको दिखाऊ कन्हैया कोई हमदर्द तुमसा नहीं है लिरिक्स – Dard Kisko Dikhau Kanhaiya Koi Dard Hamdard Tumsa Nahi Hai Lyrics

दर्द किसको दिखाऊ कन्हैया कोई हमदर्द तुमसा नहीं है लिरिक्स

दर्द किसको दिखाऊ कन्हैया
कोई हमदर्द तुमसा नहीं है

दर्द किसको दिखाऊ कन्हैया
कोई हमदर्द तुमसा नहीं है
दुनिया वाले नमक है छिडकते
कोई मरहम लगाता नही है

किसको बैरी कहू किसको अपना
झूठे वादे है सारे ये सपना
अब तो कहने में आती शरम है
रिश्ते नाते ये सारे भरम है

देख खुशिया मेरी जिंदगी की
रास अपनों को आती नही है

ठोकरों पे है ठोकर खाया
जब भी दिल दुसरो से लगाया
हर कदम पे है सबने गिराया
सबने स्वार्थ का रिश्ता निभाया

तुझसे नैना लडाना कन्हैया
दुनिया वालो को भाता नही है

ओ कान्हा अब तो मुरली की मधुर सुना दो तान लिरिक्स – O Kanha Ab To Murali Ki Madhur Suna Do Taan lyrics

भजन -ओ कान्हा अब तो मुरली की मधुर सुना दो तान
गायिका- सृष्टि लक्ष्मी ठाकुर
गायक- सनोज सागर जी
तबला – वादन रामध्यान गुप्ता जी

ओ कान्हा अब तो मुरली की मधुर सुना दो तान
मै हु तेरी प्रेम दीवानी मुझको तू पहचान
मधुर सुना दो तान
ओ कान्हा अब तो मुरली की मधुर सुना दो तान

जब से मैंने तुझ संग अपने नैना जोड़ लिए है
क्या मैया क्या बाबुल सबसे रिश्ते तोड़ दिए है
अपने मिलन को व्याकुल है ये कब से मेरे प्राण
मधुर सुना दो तान
ओ कान्हा अब तो मुरली की मधुर सुना दो तान

सागर से भी गहरे मेरे प्रेम की गहराई
लोकलाज कुल की मर्यादा सज कर मै आई
मेरी प्रीत से ये निर्मोही अब ना बनो अंजान
मधुर सुना दो तान
ओ कान्हा अब तो मुरली की मधुर सुना दो तान

मै हु तेरी प्रेम दीवानी मुझको तू पहचान
मधुर सुना दो तान
ओ कान्हा अब तो मुरली की मधुर सुना दो तान

मेरे घनश्याम से अब मिला दो भजन लिरिक्स – Mere Ghanshyam Se Ab Mila Do Bhajan Lyrics

मै हु उनका यार पुराना उनसे बिछड़े हुआ जमाना
याद मुझे उनकी आयी है अखिया मेरी भर आयी है

मै तो आया हु इस दर पे मिला दो मिला दो
अरे द्वारपालों तुम घनश्याम से अब मिला दो

मै हु उनका यार पुराना उनसे बिछड़े हुआ जमाना
याद मुझे उनकी आई है अखिया मेरी भर आयी है

मै तो आया हु इस दर पे मिला दो मिला दो
अरे द्वारपालों तुम घनश्याम से अब मिला दो

नाम मेरा बता दो हाल सारा सुनादो
उनसे कहदो के द्वारे सुदामा खड़ा है
इतने में वो तो जान ही लेंगे बस मुझको पहचान ही लेंगे

मै तो आया हु इस दर पे मिला दो मिला दो
अरे द्वारपालों तुम घनश्याम से अब मिला दो

मै तो मुरली वाले का दिल से गुलाम हो गया लिरिक्स – Mai To Murli Wale Ka Dil Se Gulam Ho Gaya Lyrics

मै तो मुरली वाले का दिल से गुलाम हो गया
मैंने भी अपना दिल ये श्याम के नाम कर दिया
मै तो मुरली वाले का दिल से गुलाम हो गया

दर दर पे तू भटकता था कभी गिरता संभलता था
तूने मुझको थाम लिया जब से श्याम का नाम लिया
तेरे चरणों में मेरा ही मुकाम हो गया
मै तो मुरली वाले का दिल से गुलाम हो गया

मैंने भी अपना दिल ये श्याम के नाम कर दिया
मै तो मुरली वाले का दिल से गुलाम हो गया

तेरी मूरत प्यारी है जिसकी दुनिया दिवानी है
मै भी दर पे आऊंगा तेरा दर्शन पाउँगा
तेरा दर्शन पाकर मेरा मन ये धन्य हुआ
मै तो मुरली वाले का दिल से गुलाम हो गया

मैंने भी अपना दिल ये श्याम के नाम कर दिया
मै तो मुरली वाले का दिल से गुलाम हो गया

Mai To Murli Wale Ka Dil Se Gulam Ho Gaya
maine Bhi aapna Dil Ye Shyam Tere Naam Kar Diya

छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके लिरिक्स – Chhap Tilak Sab Chhini Re Mose Naina Milayike Lyrics

छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके लिरिक्स

छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायी के
नैना मिलायी के नैना मिलायी के

बल बल जाऊ मै तोरे रंग रजवा
अपने ही रंग रंग लीनी रे मोसे नैना मिलायीके
छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके

प्रेम भक्ति का मधुआ पिलाई के
मतवारी कर दीनी रे मोसे नैना मिलायीके
छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके

हरी हरी चुडिया गोरी गोरी बैया
कलैइया पकड़ धर लीनी रे मोसे नैना मिलायीके
छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके

श्याम नाम की मेहंदी रचयिके
मोहे सुहागन किनी रे मोसे नैना मिलायीके
छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके

गोकुल नगरी में रहता है कोई जादूगर भजन लिरिक्स – Gokul Nagari Me Rahta Hai Koi Jadugar Bhajan Lyrics

अपना दहिया तू उतार गोरी ना जा जमुना पार
गोकुल नगरी में रहता है कोई जादूगर
अपना दहिया तू उतार…

कल मै गयी थी सखी बेचन दहिया
मिला वही चोर मेरी रोक दिया रहिया
करने लगा ओ तकरार मांगे दहिया तो उतार
गोकुल नगरी में रहता है कोई जादूगर

अपना दहिया तू उतार गोरी ना जा जमुना पार
गोकुल नगरी में रहता है कोई जादूगर
अपना दहिया तू उतार…

नरम कलाई मेरी ऐसे मरोड़ी
मार चीख सखी मै तो पड़ी रो री
ताकि मेरा हो श्रृंगार मै तू उससे हुयी लाचार
गोकुल नगरी में रहता है कोई जादूगर

अपना दहिया तू उतार गोरी ना जा जमुना पार
गोकुल नगरी में रहता है कोई जादूगर
अपना दहिया तू उतार…

मुखड़े पे भोलापन हाथ में बासुरिया
कर गया जादू मो पे नन्द का सांवरिया
करके बाते ओ हजार दहिया लेना ओ उतार
गोकुल नगरी में रहता है कोई जादूगर

अपना दहिया तू उतार गोरी ना जा जमुना पार
गोकुल नगरी में रहता है कोई जादूगर
अपना दहिया तू उतार…

कैसा चक्र चलाया रे श्याम तेरी उंगली ने लिरिक्स – Kaisa Chakkar Chalaya Re Shyam Teri Ungali Ne Lyrics

Title – Kaisa Chakkar Chalaya Re Shyam Teri Ungli Ne Bhajan
Singer – Rekha Garg
Music – Rinku Gujral
Editing – KV Sain

कैसा चक्र चलाया रे श्याम तेरी उंगली ने
उंगली ने तेरी उंगली ने तेरी
कैसा चक्र चलाया रे श्याम तेरी उंगली ने

जब द्रोपदी दुष्टों ने घेरी
कैसा चिर बढाया रे श्याम तेरी ऊँगली ने
कैसा चक्र चलाया रे श्याम तेरी उंगली ने

जहर का प्याला राणाजी ने भेजा
कैसा अमृत बनाया रे श्याम तेरी ऊँगली ने
कैसा चक्र चलाया रे श्याम तेरी उंगली ने

जब प्रह्लाद पहाड़ से गिरा था
कैसा कमल खिलाया रे श्याम तेरी ऊँगली ने
कैसा चक्र चलाया रे श्याम तेरी उंगली ने

जब नरसी ने तुमको टेरा
कैसा भात भराया रे श्याम तेरी ऊँगली ने
कैसा चक्र चलाया रे श्याम तेरी उंगली ने

जब अर्जुन ने जैद्रात को मारा
कैसा सूरज छिपाया रे श्याम तेरी उंगली ने
कैसा चक्र चलाया रे श्याम तेरी उंगली ने

मेरे नैना लड़ गये कुञ्ज बिहारी से भजन लिरिक्स – Mere Naina Lad Gaye Kunj Bihari Se Bhajan Lyrics

कुञ्ज बिहारी से रास बिहारी से
मेरे नैना लड़ गये हाय रे मेरे नैना लड़ गये

नैना लड़ गये मेरे कुञ्ज बिहारी से
नैना लड़ गये मेरे बांके बिहारी से
उन्ही से नैना लडगये उन्ही से नैना लडगये
वो तो लड़ गए लड गए लड़ गए
मेरे नैना लड़ गये हाय रे मेरे नैना लड़ गये

नैना लड़ गये मेरे कुञ्ज बिहारी से
नैना लड़ गये मेरे बांके बिहारी से
उन्ही से नैना लडगये उन्ही से नैना लडगये

छबी देखि ऐसी विर्न्दावन
प्यारो रसिया मेरो मन भावन
मोर मुकुट में अड़ गए मोर मुकुट में अड़ गए
वो तो लड़ गए लड गए लड़ गए
मेरे नैना लड़ गये हाय रे मेरे नैना लड़ गये
नैना लड़ गये मेरे कुञ्ज बिहारी से
नैना लड़ गये मेरे बांके बिहारी से
मेरे नैना लड़ गये हाय रे मेरे नैना लड़ गये

हो ऐसा क्यों मुझे जादू घेरे
मोटे मोटे नैना तेरे छोटे छोटे नैना तेरे
मोर मुकुट में अड़ गए
वो तो लड़ गए लड गए लड़ गए
मेरे नैना लड़ गये हाय रे मेरे नैना लड़ गये
नैना लड़ गये मेरे कुञ्ज बिहारी से
नैना लड़ गये मेरे बांके बिहारी से
मेरे नैना लड़ गये हाय रे मेरे नैना लड़ गये

हमने आंगन नही बहारा कैसे आयेंगे भगवान लिरिक्स – Hum Ne Aangan Nahi Bahara kaise Aayenge Bhagwan Lyrics

हमने आंगन नही बहारा चंचल मन को नही सहारा
कैसे आयेंगे भगवान कैसे आयेंगे भगवान

घर को नेकल मसकसाय की लगी हुयी है ढेरी
नही ज्ञान की किरण कही भी हर खोठरी अँधेरी
आंगन चौबारा अंधियारा कैसे आयेंगे भगवान
कैसे आयेंगे भगवान कैसे आयेंगे भगवान
हमने आंगन नही बहारा कैसे आयेंगे भगवान

ह्रदय हमारा पिघल ना पाया जब देखा दुखियारा
किसी पंथ भूले ने तुमसे पाया नही सहारा
सुखी है करुना की धारा कैसे आयेंगे भगवान
हमने आंगन नही बहारा चंचल मन को नही सहारा
कैसे आयेंगे भगवान कैसे आयेंगे भगवान

निर्मल मन हो तो रघुरायक शबरी के घर जाते
श्याम सुर की बाह पकड़कर साग भी धुरधर आये
इसपे तुमने नही बिचारा इस्पे हमने नही बिचारा
कैसे आयेंगे भगवान कैसे आयेंगे भगवान
हमने आंगन नही बहारा चंचल मन को नही सहारा
कैसे आयेंगे भगवान कैसे आयेंगे भगवान

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की भजन लिरिक्स – Na Ji Bhar Ke Dekha Na Kuch Baat Ki Bhajan Lyrics

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी मुलाकात की
करो दृष्टि अब तुम प्रभु करुना की
बड़ी आरजू थी मुलाकात की

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी मुलाकात की

जले आओ अब तो ओ प्यारे कन्हैया
ये सुनी है कुंजन और व्याकुल है गईया
सुना दो उइन्हें अब तो धुन मुरली की
बड़ी आरजू थी मुलाकात की

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी मुलाकात की

हम बैठे है गम उनका दिल में ही पाले
भला ऐसे में खुद को कैसे संभाले
ना उनकी सुनी ना कुछ अपनी कही
बड़ी आरजू थी मुलाकात की

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी मुलाकात की

तेरा मुस्कुराना भला कैसे भूले
ओ कदमन की छाया ओ सावन के झूले
ना कोयल कुकू ना पपीहा की पी
बड़ी आरजू थी मुलाकात की

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी मुलाकात की

This Post Has 2 Comments

  1. Pingback: bhajans lyrics in hindi & and english – bhakti.lyrics-in-hindi.com

  2. Pingback: Chanda Jhaanke Lyrics – Hansraj Raghuwanshi, Salim Merchant – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply