besahara shyam saharo chahiye baba thaari kirpa ko isharo chahiye

बेसहारा श्याम सहारो चाहिए,
अरे बाबा थारी किरपा को इशारो चाहिए,

ये ही बाबा श्याम हमारा ये ही तो घनश्याम हमारा,
माहरे मन की देही जानो देहि तो आधार हमारा,
अँध्यारो जीवन में उजालो चाहिए,
अरे बाबा थारी किरपा को इशारो चाहिए,

पहली बार यो द्वार पे आवे बार बार वो आतो जावे,
हर ग्यारस पे बाबा थी मन से ज्योत जगातो जावे,
म्हारा भगता ने बाबा मांडे में भावे है,
श्याम थी किरपा को इशारो चाहिए

श्याम धनि यो घणो मजाजी पिंकी की नैया को माजी,
थारी आद्दत सत्यो जाने रोता ने तू करदे राजी,
माहरी अर्जी पे थारी मर्जी चाहिए,
अरे बाबा थारी किरपा को इशारो चाहिए,

Leave a Reply