Jain Bhajan Lyrics

जैन धर्म हमे प्राणों से भी प्यारा है

जैन धर्म हमे प्राणों से भी प्यारा है,धर्मो में ये धर्म बड़ा ही न्यारा है,अहिंसावादी है ये पंथ हमारे,जहाँ प्रेम…

Continue Readingजैन धर्म हमे प्राणों से भी प्यारा है

मैं तो तीरथ करने आई बाहुबली चरणों में आई

मैं तो तीरथ करने आई बाहुबली के चरणों में आई,मैं तो तीरथ करने आई बाहुबली के चरणों में आई,मेरा बेड़ा…

Continue Readingमैं तो तीरथ करने आई बाहुबली चरणों में आई

चांदनपुर के गाँवों में बुला ले रे वीरा

चांदनपुर के गाँवों में बुला ले रे वीरामैं तो दर्शन करने आउंगी तेरो वंदन करने आउंगी चांदनपुर के गाँवों में…

Continue Readingचांदनपुर के गाँवों में बुला ले रे वीरा

लाखो चाँद खिले हो जैसे मुख है

लाखो चाँद खिले हो जैसेमुख है तुम्हरा शीतल ऐसे जाऊ मैं बलिहारी,हे विमर्श गुरु राज मैं देखे जाऊ छवि तुम्हारी,…

Continue Readingलाखो चाँद खिले हो जैसे मुख है

गुरु ज्ञान की हो बरसात आप के वचनो से

भगवान का आपमे दर्श कियागुरु देव स्वीकार सहर्ष कियामुझे आप ही मोक्षा दिलाओगेमन बोला जो मन से विमर्श कियामन बोला…

Continue Readingगुरु ज्ञान की हो बरसात आप के वचनो से

हरपल दर्शन री आस टूट्या कर्मारा बन्धन है

हरपल दर्शन री आस टूट्या कर्मारा बन्धन है,थाने देख्या लागे आज घुल ग्या केसर चन्दन है ।। ये किरपा री…

Continue Readingहरपल दर्शन री आस टूट्या कर्मारा बन्धन है