ek baaar jra barsane me tu aake dekh le

इक बार जरा बरसाने में तू आके देख ले,
तकदीर बदल जायेगी तेरी आजमा के देख ले,
इक बार जरा बरसाने में तू आके देख ले,

रज बरसाने की जो माथे पे लगता है,
वो ही राधा नाम का दीवाना बन जाता है,
तू भी इसको माथे पे लगा के देख ले,
इक बार जरा बरसाने में तू आके देख ले,

अजब नजारा है किशोरी जु के धाम का,
भजता है ढंका यहाँ श्यामा यु के नाम का,
तू भी अपनी झोली को फैला के देख ले,
इक बार जरा बरसाने में तू आके देख ले,

लेके विस्वाश जो भी आता बरसाने में,
करती न कंजूसी श्यामा किरपा बरसाने में,
तू अब राधे राधे गा के देख ले,
इक बार जरा बरसाने में तू आके देख ले,

झलक किशोरी यु की चरणों की जो पाएगा.
दावा है तू चरणों का दास बन जाएगा,
बात मेरी अपने मन में बिठा के देख ले,
इक बार जरा बरसाने में तू आके देख ले,

Leave a Reply