jugni saiyan di

मैं हो के मस्त मलंग नचदी,
मैं रंग साईंया दे रंग नचदी,
जो रखदे लाज ने लाइयाँ दी,
लोको मैं जुगनी साइयां दी,

ओहदी मस्ती दे जाम मैं पिंदी आ,
ओहदी रजा दे विच ही जिन्दी आ,
जो रखदे खबर खुदाईया दी,
लोको मैं जुगनी साइयां दी,

आल्हा वे बिस मिल्हा तेरी जुगनी,
पीरा वालियां ओ तेरी जुगनी,
साईंयां मेरिया ओ तेरी जुगनी,
पीर मोलियाँ ओ तेरी जुगनी,

ओहदे इशक दी मस्ती चढ़ गई ऐ,
जेह्दी ओहदे अगे हर गई ऐ,
कंध डेह गई सब बुराइयाँ दी,
लोको मैं जुगनी साईंया दी,

हो जुगनी हो गई आ मस्तानी,
गौन्दी साईं साईं दी गानी,
उसनू मणियाँ दिल दा जानी,
लग तो हो गई आ बेगानी,
ओ वीर मेरियां ओ जुगनी सैयां दी,
जिहने रखी लाज ऐ लाइयाँ दी

Leave a Reply