शुक्रवार स्पेशल भजन – सर्वमंगल मांगल्ये, ॐ भूर्भुवः स्वः, दुर्गा अमृतवाणी, दुर्गा चालीसा व आरती

शुक्रवार स्पेशल भजन – सर्वमंगल मांगल्ये, ॐ भूर्भुवः स्वः, दुर्गा अमृतवाणी, दुर्गा चालीसा व आरती Aaj Ke Bhajan


#AajKeBhajan
#शुक्रवारभक्तिभजन
#ॐभूर्भुवःस्वः
#सर्वमंगलमांगल्ये
#Fridaybhajan
#Matabhajans
#matabhajansangrah
#Ambeytuhai
#Jaisanotshimata
#Jaiambeygauri
#Bhajan
#Devotionalsong
#aajkebhajan
#AajKeBhajan
#DurgaHindiBhajan
#NonstopMataBhajan

सर्व मंगल मांगल्ये
ॐ भूर्भुवः स्वाहा
या देवी सर्वभूतेषु
दुर्गा चालीसा
दुर्गा चौपाई कथा
श्री दुर्गा अमृतवाणी
अम्बे तू है जगदम्बे काली

1401-DVT_JKB

आज ही हमारे चैनल ” #Aaj Ke Bhajan ” को SUBSCRIBE करे व अन्य भक्तों के साथ वीडियो को Share करे व Like करना न भूलें |

Click to Subscribe :-

Aaj Ke Bhajan , शुक्रवार भक्ति भजन,ॐ भूर्भुवःस्वः, सर्व मंगल मांगल्ये, Friday bhajan, Mata bhajans, mata bhajan sangrah, Ambey tu hai, bhor bhai din aarti, sarv mangal mantra, durga mantra, durga bhakti bhajan, durga bhajan sangrah, durga mata ki bhajan, durga chalisa, om bhur bhuva swaha, durga gayatri mantra, Jai ambey gauri,,Bhajan,,Devotional song,,aaj ke bhajan , mata rani ke bhajan, mata rani ki aarti, special mata aarti, 2023 durga bhajan , #ॐभूर्भुवःस्वः,ॐभूर्भुवःस्वः,ॐ भूर्भुवः स्वः,ॐ भूर् भुवः स्वः, ॐ भूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यं,गायत्री मंत्र ओम भूर्भुव स्व,या देवी सर्व भूतेषु,सर्वमंगल मांगल्ये,सर्व मंगल मांगल्ये,ॐ सर्वमंगल मांगल्ये,सर्वमङ्गलमाङ्गल्ये, ambe tu hai jagdambe kali,ambey tu hai,ambe tu hai jagdambe kali aarti,ambe tu hai anuradha paudwal,ambe tu hai jagdambe kali song,ambe tu hai,ambey tu hai jagdambe,ambey tu hai jagdambey,aarti ambe tu hai,ambe tu hai alka yagnik,ambe tu hai jagdambe kaali, jai ambey gauri,ambey gauri,om jai ambey gauri,om jai ambey gaur,jai ambe gauri,jai ambey gauri aarti,jay ambey gauri,om jai ambey gauri arti,om jai ambe gauri,ambe gauri,jay ma ambey gauri,jay ambey gauri aarti,jai ambey gauri mata bhajan,jai ambe gauri aarti,aarti ambe gauri,jai ambe gauri lyrics,om jai ambe gauri song,jai ambe gouri
bhajan mata ke सर्व मंगल मंगल ये शिव सर्वार्थ साधिके शरण में त्रियंबू के गौरी नारायणी नमोस्तुते [संगीत] मंगल पूर्ण करने वाली है [संगीत] [संगीत] एवं [संगीत] अर्थात कामनाओं को भून करने वाली [संगीत] तथा तीन नेत्रों वाली सृष्टि की पालनहार शक्ति है ऐसी नारायणी को हमारा नमस्कार है माया मॉस्ट्यूट सर्व मंगल मंगलय शिव सर्वार्थ साधिके

शरण्या त्रयंबक गौरी नारायणी ना मो तुझे मंगल मंगलकारी नारायण [संगीत] के गौरी नारायण [संगीत] सर्व मंगल मंगलकारी नारायण [संगीत] के गौरी नारायण [संगीत] [संगीत] [संगीत] मौला [संगीत] [संगीत] साहब के शरण में गौरी नारायण श्री श्री सर्वार्थ साधिके शरण में त्रियंबू के गौरी नारायण [संगीत] के गौरी नारायणी नमो नमः [संगीत] [संगीत] नारायण नारायण

[संगीत] सर्व मंगल मंगलय शेर सरवन साज के शरण में गौरी नारायण के गौरी नारायण [संगीत] [संगीत] [संगीत] मंगल मंगल गौरी नारायण [संगीत] शरण्या ट्रंप के गौरी नारायणी नमोस्तुते सर्व मंगल मंगलय शिव सर्वत्र साध गए शरण में नारायण नारायण [संगीत] मौला [संगीत] नहीं [संगीत] प्रभु के गौरी नारायणी नमो नमः [संगीत]

शिव सर्वार्थ साधिके शरण नियंत्रियों के गौरी नारायण [संगीत] [संगीत] [संगीत] गौरी नारायणी नायमोस्ट उट मंगल मंगलकारी नारायण [संगीत] [संगीत] के गौरी नारायण [संगीत] शारंगी ड्रम के गौरी नारायणी नमोस्तुते सर्व मंगल मंगल नारायण नारायण [संगीत] सर्व मंगल मंगल शिवेशवर सर्व साध के शरण में तिवारी नारायण [संगीत] के गौरी नारायण [संगीत] [संगीत] [संगीत]

ओम भर बुवा स्वाहा [संगीत] तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवासी धीमहि दियो जो एन प्रचोदयात् [संगीत] ओम भर बुवा स्वाहा [संगीत] [संगीत] [संगीत] ओम भर बुवा स्वाहा [संगीत] तत्सवितुर्वरेंयं भर्गो देवासी धीम ही दियो जो एन प्रचोदयात् [संगीत] ओम भर बुवा स्वाहा टाट्सवित्व अधिनियम भर्गो देवासी धीमहि दियो जो एन प्रचोदयात् [संगीत] ओम भर बुवा स्वाहा [संगीत]

पूर्व में स्वाहा तत्सवितुर्वरेंयं भर्गो देवासी मंझियो जो एन कछु दया [संगीत] ओम श्री गायत्री नमः ओम श्री गणेशाय नमः श्री गणेशाय नमः ओम भर बुवा स्वाहा टाट्सवितिन भर्गो देवासी धीमहि दियो जो एन प्रचोदयात् [संगीत] [संगीत] देखो बस यही [संगीत] ओम भर बुवा स्वाहा [संगीत] तत्सवितुर्वरेंयं भर्गो देवासी धीमहि दियो जो [संगीत] जो

ओम भर बुवा स्वाहा [संगीत] तत्सवितुर्वरेंयं भर्गो देवासी धीम दियो जो [संगीत] ओम भर बुवा स्वाहा तत्सवितुर्वरेंयं भर्गो देवासी धीमहि दियो जो एन प्रचोदयात् [संगीत] ओम भर बुवा स्वाहा तत्सवितुर्वरेण्यं भर को देसी धीमहि दियो जो एन प्रचोदयात् [संगीत] जय श्री नमः ओम श्री गायत्री नमः ओम श्री गणेशाय नमः ओम श्री गायत्री नमः [संगीत]

भर्गो देवासी धीमहि दियो जो एन प्रचोदयात् [प्रशंसा] [संगीत] ओम भर बुवा स्वाहा [संगीत] [संगीत] देखो मैं स्वाहा तत्सवितुर्वरेंयं भर्गो देवासी मंझियो जो एन कछु दया [संगीत] ओम भर बुवा स्वाहा [संगीत] तत्सवितुर्वरेंयं भर्गो देवासी धीमहि दियो जो [संगीत] जो ओम भर बुवा स्वाहा [संगीत] तत्सवितुर्वरेंयं भर्गो देवासी धीमहि [संगीत] नमस्ते नमस्ते [संगीत] नमो नमः

[संगीत] विद्या नमस्ते [संगीत] नमो नमः [संगीत] या देवी सर्वभूतेषु मंत्र रूपेण संता नमस्ते [संगीत] नमो नमः [संगीत] [संगीत] या देवी सर्वभूतेषु भक्ति रूपेण संस्थिता नमस्ते नमस्ते [संगीत] नमो नमः या देवी सर्वभूतेषु भक्ति रूपेण संस्कृत का नमस्ते नमस्ते [संगीत] नमो नमः यादें सर्वभूतेषु भक्ति रूप इंसान नमस्ते [संगीत] नमो नमः यारीसार होते [संगीत]

नमो नमः [संगीत] या देवी सर्वभूतेषु लक्ष्मी रूपेण संस्था नमस्ते नमो नमः या मेरे सर्वभूतेषु लक्ष्मी रूपेण संस्था नमस्ते [संगीत] नमो नमः याद भी सर्वभूतेषु लक्ष्मी रुपिन संस्था नमस्ते [संगीत] नमो नमः या देवी सर्वभूतेषु लक्ष्मी रूपेण संस्कार नमस्ते नमस्ते [संगीत] नमो नमः [संगीत] या देवी सर्वभूतेषु दया रूपेण संस्थिता नमस्तस्य नमः [संगीत] राधे-राधे [संगीत]

नमस्ते [संगीत] नमो नमः या देवी सर्वभूतेषु दया रूप डा नमस्ते नमस्ते [संगीत] नमो नमः या देवी सर्वभूतेषु दयालु बिन संत का नमस्ते नमस्ते [संगीत] नमो नमः [संगीत] या देवी सर्वभूतेषु तृष्णा रूपेण संस्था नमस्ते [संगीत] नमो नमः [संगीत] या देवी सर्वभूतेषु शांति रूपेण संस्था नमस्ते [संगीत] नमो नमः राधे-राधे [संगीत] नमो नमः या देवी

सर्वभूतेषु शांति रूपेण संस्थिता नमस्ते नमस्ते [संगीत] नमो नमः [संगीत] या देवी सर्वभूतेषु बुद्धि रूप [संगीत] से नमो नमः राधे-राधे [संगीत] नमो नमः [संगीत] राधे-राधे [संगीत] नमो नमः [संगीत] या देवी सर्वभूतेषु श्रद्धा रूपेण संस्तता नमस्तस्य नमः [संगीत] मस्त से नमो नमः याद सर्वप्रथम श्रद्धा रूपेण संस्थिता नमस्ते नमस्ते [संगीत] नमो नमः [संगीत]

नमो नमो दुर्गे सुख करनी नमो नमो अंबे दुख हरनी निरंकार है ज्योति तुम्हारी [संगीत] वाला [संगीत] [संगीत] [संगीत] [संगीत] गौरी शिवा शंकर प्यारी सी होगी तुम्हारे गन गावे ब्रह्मा विष्णु तू है मित्र झा वे बत्ती को तुम धारा दे सद्बुद्धि ऋषि मनी [संगीत] पर कर्म [संगीत] अच्छा करता

हूं लक्ष्मी रूप धरो जग माही करात [संगीत] दया सिंधु दी जय मां आशा हिंगलाज में तू ही माया मितान जाट वी कहानी [संगीत] मातंगी भैरव तारा आई जिंदाबाद [संगीत] [संगीत] बिहू लोक में डंका [संगीत] बजदा एन वी तुम हमारे साथ [संगीत] [संगीत] रूप कर ले काली को धारा देना सही तो नहीं

समझना पड़ेगा [संगीत] जब महिमा स्वर है अशोक ज्वाला में है ज्योति तुम्हारी तुम्हें सदा मुझे ना रहानदी [संगीत] प्रेमवती से जो यस गावे दुखदारी गनी कैट नहीं आवे जो तुम्हें नर्मदाई जन्म मरांता को छठ जय जोगी तुम्हारी शंकर ए जाति हो [संगीत] नीचे दिन ध्यान धरो शंकर को कल नहीं [संगीत] [संगीत]

शक्ति नहीं की नबी लंबा [संगीत] मो को हरे दुख में रोटा [संगीत] वैठो ना साकी जय महारा सुमिरोई का चित्र तुम्हें भवानी करो कृपा है विधि देखकर उन्हें हालात जब लगी जियों डायफल पाऊं तुम रोज मैं सदा सुनाऊं दुर्गा चालीसा [संगीत] वे परम मित्र बंधु शरण जानी करो कृपा जगदंबा भवानी शरण गतरात

रहे [संगीत] अंक मां तू लीजिए अंक [संगीत] आदि भवानी जान कल्याण जय जय जगदंबे मां हजारों मैया तेरे हम हजार मैया तेरे कभी काली मां कभी रेशों शेर वाली हो भाव से सबको टार्टिमाता असुर संघर्ष माता ना बनते हैं [संगीत] [संगीत] [संगीत] [संगीत] हो बन-चंडी जब उतनी रन में

सूंघने शुभ वध कर दिया क्षण में [संगीत] जानकारी [संगीत] [संगीत] [प्रशंसा] [संगीत] [संगीत] [संगीत] ए चल बाल से भी टिकना पाया [संगीत] कितने रूप है धरे सुरजन मुनियों को सबसे [संगीत] ओ देवी [संगीत] [संगीत] [संगीत] हो गिर सती का हर जहां पर मैहर धाम तब बना वहां पर [संगीत]

अग्नि रूप में मां जब आई [संगीत] [संगीत] हो नेत्र सहस्त्र करके धरण मैया शताक्षी करें जग पालनपुर हरे हरे [संगीत] लक्ष्मी सरस्वती तुम महाकाल [संगीत] धरती शक्ति से भरने वाले जग जननी करो हो सत्यधिकारी की है यह वाणी कलाम सुबह की लिखी कहानी [संगीत] [संगीत] [संगीत] दुर्गा दुर्ग बिना सिंह [प्रशंसा]

तब से पर उतारना मां दुर्गा का कम मां दुर्गा के महिमा का वेद करें गुड़गांव कल्याण कल्याण करें जब लो दुर्गा नाम सर्व कल संपूर्ण है सर्वगुणों की था दुर्गा मां दुर्गे श्री चरणों में प्रणाम जय [संगीत] जय दुर्गा मां [संगीत] करती है कान्हा दुर्गा मां भावतारिणी कटे कल का [प्रशंसा] [संगीत]

के मां दुर्गम का जी करें सभी पूर्ण साभियों कम चित मनोरत सब करें सिद्ध करें सबका सिद्ध चरण में बात तेरे मां आए हैं [संगीत] जय जय श्री राम जय जय दुर्गा मां जय जय दुर्गा मां [संगीत] कंकर को मोती करें पत्थर को कर बिगड़े भाग संभालती गन गए [संगीत]

जिनके जीवन छाया है मां में ज्योत जागी के करते थे उचिया तुम कोशिश नया रहे ब्रह्मा विष्णु महेश कृपा मां बर्स रहे भक्तों पर तो विषय कितने अलग तेरे रूप है कितने अलग तेरे नाम अलग अलग रूप में भी भक्तों के करती कम [संगीत] जय जय श्री राम [संगीत] दुर्गा के नवरूप का

आराधना कर जैन जीवन में सुख संपत्ति भक्ति वही ए जा चल पुष्ट के रूप में जो दुर्गा को सब वहां पे आए के भाव से पर लगा ब्रह्मचारिणी रूप का जिसने लगाया था मुक्ति का फल मिल गया बन गए बिगड़े कम चंद्र करता है दुर्गा का भक्तों की चारु

पवन ये दर्शन करो मां का रूप जय जय श्री राम [संगीत] [संगीत] चुम्मा क्या है मैया का भक्तों चौथ रूप चौथ रूप को जाइए कृपा मिले अनु स्कंद माता के रूप में बोले मोक्ष के द्वारा पंचम रूप को जाइए मां है रूप में लीजिए कात्यानी का नाम

हाथ जोड़ कर लीजिए मैया को प्रणाम कालरात्रि रूप में कांटे कल का संताप हरे वो दुख होता ना [संगीत] [संगीत] अष्टम रूप है मां गौरी ले लो मां का नाम जीवन में सुख पाओगे बनेंगे बिगड़े कम से सीधा तीन मां दुर्गा का नाम आज भक्तों के सिद्ध करें सिद्धि ना तेरी मां

जिसने भी जी रूप में जपलिया दुर्गा ना सिंह सवारी से पापी का तुमने किया रात पे मां तो दिए थे मां [संगीत] जय जय दुर्गा मां जय दुर्गा मां [संगीत] कमल यही यही शारदे मां बस यही एक प्रार्थना भाव से तरतेमा अजर अमर है अनंत है शक्ति अपरंपा अंश वहिनी है [संगीत]

श्रद्धा और विश्वास दुखना आने पाएगा कभी भक्तन के पास चंद सितारे सूर्य सभी मैया के आदि दिन के इशारे पर चले भक्ति रात और दिन जय गंगा [संगीत] जय दुर्गा मां जय जय दुर्गा मां [संगीत] श्रद्धा [संगीत] जिसने दुर्गा नाम लिया कर्मों की रेखा यही पाल में बादल दी जान

करुणा अमृत बा रहा कर लो भक्तों का डर डर भटकना पाओगे मिलने का मौका चांदी मां तू ही तू ही झंडेवाली जय जय दुर्गा मां जय जय दुर्गा मां दुर्गा मां जय जय गुरुदेव [संगीत] भगवान दुर्गा सप्तशती ग्रंथ का नित्य करें जो पर लोग दोष का नस हो मिलता ठाकोर

किशोर के समाज है दुर्गा का प्रकाश [संगीत] [संगीत] जय जय दुर्गा मां जय जय दुर्गा मां जय दुर्गा मां जय जय दुर्गा मां [संगीत] दुख हरण सुख धाम है मां शक्ति का धाम जन्म जन्म के बनते हैं यहां पर बिगड़े का जीवन सुखी बगिया में माही खिलाती फूल [संगीत] आधार यही यही सृष्टि

कमजोर रूप में आए दर्शन जब दे जा स्वर्ग का सर सुख यही भक्तों को मिल जाए मां मंदिर में बिठा के चंदन तिलक लगा जीवन के सुख भोग के मां के शरण में आएगा [संगीत] जय जय दुर्गा मां जय जय दुर्गा मां [संगीत] [संगीत] अंबे मां जय जय

अंबे तू है जगदंबे काली जय दुर्गे खप्पर वाली तेरे ही गन गए भारती ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती अंबे तू है जगदंबे काली [संगीत] [संगीत] जय मां काली [संगीत] तेरे भक्तजनों पर माता भीड़ पड़ी है भाई दानव दाल पर टूटल पर टूट पड़ो मकर के सिंह सवारी [संगीत]

अष्टभुजा वाले दुखियों के दुख देने वर्ती ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती अंबे तू है जगदंबे काली जय दूर ऊपर वाले तेरे ही गुंडे ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती [संगीत] मां बेटे का है इस जग में बड़ा ही निर्मल नता

आपुट कपूत सुन है प्रणाम माता सनी को माता सब पर करुणा बरसाने वाली अमृत बरसाने वाली दुखियों के दुख देने वाली [संगीत] तू है जगदंबे काली जय दुर्गे खप्पर वाली तेरे ही गुंडे भक्ति ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती ओ मैया हम सबरे तेरी आरती [संगीत] [संगीत]

नहीं मांगते धन और दौलत ना चांदी ना सोना हम तो की मां तेरे मां में हम तो मांगे मां तेरे मां में एक छोटा सा को एन सबकी बिगड़ी बनाने वाली लॉज बचाने वाले सतियों के सात को सोमवार टी ओ मैया हम सब उतारे तेरी यार की

जय दुर्गे खप्पर वाली तेरे ही गुंडे ओ मैया तेरी आरती हो मैया तेरी आरती ओ मैया तेरी आरती [संगीत] #शकरवर #सपशल #भजन #सरवमगल #मगलय #ॐ #भरभव #सव #दरग #अमतवण #दरग #चलस #व #आरत
Aaj Ke Bhajan More From Bhakti.Lyrics-in-Hindi.com

Leave a Comment