श्री राम अमृतवाणी Shree Ram Amritwani | With Lyrics | Ram Bhajan | ANURADHA PAUDWAL | HD

श्री राम अमृतवाणी Shree Ram Amritwani | With Lyrics | Ram Bhajan | ANURADHA PAUDWAL | HD T-Series Bhakti Sagar


Subscribe our channel for more updates:
Ram Bhajan: Shree Ram Amritwani श्री राम अमृतवाणी
Album: Shree Ram Amritwani
Singer: Anuradha Paudwal
Music: Surinder Kohli
Lyrics: Balbir Nirdosh
Music Label: T-Series

#tseriesbhaktisagar #anuradhapaudwal #ramamritwani #ayodhyarammandir #rammandirayodhya #rambhajan #ramamritwanibhajan #ramamritwanisong

If You like the video don’t forget to share with others & also share your views.
Stay connected with us!!!
► Subscribe:
► Like us on Facebook:
► Follow us on Twitter:

For Spiritual Voice Alerts, Airtel subscribers Dial 589991 (toll free)
To set popular Bhakti Dhun as your HelloTune, Airtel subscribers Dial 57878881
bhajan lyrics [संगीत] [प्रशंसा] राम नाम संजीवनी ज्ञान सुधा सुख धाम रघुवर दया निधान को सुमिरो आठो या भक्ति दीपक जहां जले वहां है राम निवास राम भरोसे जो जिए पूरण हो हर आ राम विश्व के मूर है राम है जगता आधार राम है कण कण में रमे राम है

अपरंपार राम का चाहे दर शश तो मन की आंखें खोल राम तराजू पर अपने धर्म कर्म को तोल जय जय जय श्री राम जय जय जय श्री राम राम कसौटी पर पहले पूरा उतरक दे पल में तुम्हारे भाग्य की पलट जाएगी रे मिथ्या जग को भूल के राम पे रख

विश्वास हर एक कष्ट कलेश की औषधि राम के पास राम की धुन में तू कभी सुद बुध अपनी खो अवधपुरी का लाडला तुमरा जाएगा हो दशरथ नंदन राम के चरण सरोज कुछु नश्वर माटी से पल में बनेगा चंदन तू जय जय जय श्री राम जय जय जय श्री

राम सीता रमन को सौंप दे जीवन की डो चटेगी दुख संताप की काली घटा घन भोर राम है पारस प्रेम का राम है चुंबक रूप नष्ट करे अंधकार को राम भजन की धूप रघुपति राघव राम का चिंतन कर दिन रे राम की राहों में अपने रखियो बिछाए

न अवधी शवर के मनन से मन की शुद्धि हो अंतर खट की मैल धुले रहे विकार ना कोई जय जय जय श्री राम जय जय जय श्रीराम हनुमत के प्रभु राम से ले भक्ति की भी राम के भक्तों के त भी संकट हरसी राम नाम हो जहां लिखा वो पत्थर तर

जाए जिन्हे आसरा राम का उन पे आचल आ राम राम रट ले सदा राम को तू ना भूल तेरी डगर की शूर को राम करेंगे फूल लकन अनुज रघुवीर से ऐसी प्रीत बढ़ा अवधपुरी को छोड़ के यहां जाएगा जय जय जय श्री राम जय जय ज जय श्री राम जय जय जय श्री

राम जय जय जय श्री राम #शर #रम #अमतवण #Shree #Ram #Amritwani #Lyrics #Ram #Bhajan #ANURADHA #PAUDWAL
T-Series Bhakti Sagar More From Bhakti.Lyrics-in-Hindi.com

Leave a Comment