bhole ki baarat aai macha hai dhamal de dana dhan bhutva naache

भोले की बारात आई मचा है धमाल,
दे दाना दन भूत्वा नाचे दे दे के ताल,
तो भजो धिनचक धिन धिन ता,

अंग में भभूति और मृग शाला गरुवां में धारे है सर्पो की माला,
ढोल भाजे भाजे नगाड़ा नाचे नाचे ये जग सारा,
तो भजो धिनचक धिन धिन ता,

दूल्हा बने है देखो जग के रचियाँ,
एजाज़ नाचे है ता था थाइयाँ,
ढोल भाजे भाजे नगाड़ा नाचे नाचे ये जग सारा,
तो भजो धिनचक धिन धिन ता,

अरे आजा बारात में तू भी मजा लेना,
रिज़ा और बाली संग ताली भजा लेना,
ढोल भाजे भाजे नगाड़ा नाचे नाचे ये जग सारा,
तो भजो धिनचक धिन धिन ता,

Leave a Reply